UP: वॉट्सऐप पर ट्रिपल तलाक, हलाला के नाम पर रेप

NEW DELHI.  सुप्रीम कोर्ट द्वारा ट्रिपल तलाक कानून को खारिज करने के बाद भी देश के विभिन्न शहरों में अभी भी ट्रिपल तलाक की घटनाएं हो रही हैं। ऐसा ही एक ताजा मामला उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले में एक विवाहिता को पति द्वारा वॉट्सऐप पर ट्रिपल तलाक देने का मामला सामने आया है। आरोप है कि जिले के सांगीपुर इलाके में रहने वाली महिला को पहले पति ने तलाक दिया और फिर दो बार उसका रेप किया। इसपर जब महिला ने पुलिस को मामले की शिकायत दी तो आरोपी शख्स ने दोबारा निकाह की बात कहते हुए उसे एक रिश्तेदार मौलवी के पास हलाला कराने को भेज दिया। यहां पर भी महिला के विरोध करने के बावजूद मौलवी ने उसका रेप किया।

 

परिजनों के मुताबिक, महिला का निकाह करीब 9 साल पहले हुआ था और निकाह के बाद महिला ने दो बच्चों को भी जन्म दिया। हाल ही में कुछ दिनों पहले पति द्वारा तलाक के बाद रेप किए जाने पर उसने इसकी शिकायत पुलिस से की थी। इसके बाद ही पति ने दबाव में दोबारा निकाह की बात कही थी, लेकिन इसके लिए हलाला कराने की शर्त रखी थी। आरोप के मुताबिक महिला की शिकायत दर्ज होने के बावजूद पुलिस विभाग ने शरिया कानून की बात कहते हुए कोई कार्रवाई नहीं की, जिसके बाद महिला न्याय के लिए अपने दो बच्चों के साथ जिला प्रशासन के अधिकारियों के दरवाजे पर भटकती रही।

महिला दर-दर भटकने को मजबूर

कहा जा रहा है कि हलाला के नाम पर जिस मौलवी पर रेप करने का आरोप है उसका नाम मजीज है और वह नगर कोतवाली क्षेत्र के जोगापुर इलाके का निवासी है। वहीं घटना के बाद सांगीपुर पुलिस ने महिला और आरोपी मौलवी के खिलाफ केस तो दर्ज किया है, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। प्रशासन की इसी उदासीनता के कारण जहां महिला दर-दर भटकने को मजबूर है, वहीं अधिकारियों ने अब तक इस मामले में पुलिस कार्रवाई को लेकर कोई बयान नहीं दिया है।

 

गौरतलब है कि, तीन तलाक के मामले पर सुप्रीम कोर्ट पहले ही अपना फैसला सुना चुका है। अब कोर्ट में नया मुद्दा निकाह हलाला की चर्चा जोरों पर है। सुप्रीम कोर्ट में इसपर भी चुनौती दी गई है जिसकी सुनवाई संविधान पीठ करेगा। तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद से निकाह हलाला जैसी प्रथा भी खत्म करने की मांग उठने लगी है।