देश का चौकीदार ‘प्योर’ है, चोर नहीं: राजनाथ सिंह

NEW DELHI: केंद्रीय गृह मंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर उनके द्वारा बार..बार निशाना साधने के लिए रविवार को हमला बोला और कहा कि देश का ‘‘चौकीदार प्योर है, चोर नहीं। सिंह ने उत्तर ओडिशा के भद्रक जिले के बाहरी इलाके में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी अपनी ईमानदारी, निष्ठा और प्रदर्शन’’ के चलते लोकसभा चुनाव के बाद भी प्रधानमंत्री के तौर पर कार्य करते रहेंगे।

 

सिंह ने गांधी द्वारा राफेल लड़ाकू विमान सौदे के संदर्भ में बार बार निशाना साधने की ओर इशारा करते हुए कहा, ‘‘कोई भी प्रधानमंत्री के इरादे और निष्ठा पर सवाल नहीं उठा सकता। उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस प्रमुख कहते हैं ‘चौकीदार चोर है’ लेकिन उन्हें इसका एहसास होना चाहिए कि देश का चौकीदार चोर नहीं बल्कि प्योर है। उन्होंने गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस प्रमुख वर्तमान सरकार के प्रदर्शन पर टिप्पणी कर सकते हैं लेकिन उन्हें निराधार आरोप लगाने से परहेज करना चाहिए।

 

सिंह ने कहा, ‘‘वह (मोदी) निश्वित तौर पर फिर से प्रधानमंत्री बनेंगे, वह सभी समस्याओं के इलाज हैं।’’ उन्होंने कहा कि सभी राजनीतिक दलों और नेताओं को प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के पद की गरिमा बरकरार रखनी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन आपको (गांधी) कोई ङ्क्षचता नहीं…आप जो भी मन में आता है वह बोलते हैं। उन्होंने कांग्रेस पर राफेल सौदे के मुद्दे पर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाना अनुचित है क्योंकि उनका कोई नहीं है जिसके लिए उन्हें पैसे की जरुरत हो।

 

भाजपा नेता ने कहा, ‘‘मोदी जी किसके लिए पैसे एकत्रित करेंगे? उनका कोई परिवार नहीं है। सिंह ने कहा कि उनकी पार्टी सरकार बनाने के लिए नहीं बल्कि समाज और देश के विकास के लिए राजनीति में है। उन्होंने कहा, ‘‘हम देश को एक आॢथक शक्ति नहीं बनाना चाहते बल्कि एक ऐसा देश बनाना चाहते हैं जो आॢथक रूप से मजबूत हो और ज्ञान और विज्ञान में एक अगुआ हो। हम भारत को एक विश्व गुरु बनाना चाहते हैं। केवल भाजपा और आपके प्रधानमंत्री इसे प्राप्त करने में सक्षम हैं।

 

उन्होंने भाजपा का मजाक उड़ाने और उसे ‘‘राष्ट्रीय राजनीति में एक सीमित प्रभाव वाली पार्टी’’ बताने के लिए कांग्रेस नेताओं पर तीखा हमला बोला और कहा कि भाजपा जिसके किसी समय लोकसभा में दो सदस्य थे उसने कुछ वर्षों में अपनी ताकत का प्रदर्शन करते हुए पूर्ण बहुमत प्राप्त किया। उन्होंने कहा, ‘‘यदि (अटल बिहारी) वाजपेयी और (लालकृष्ण) आडवाणी ने भाजपा की प्रगति की नींव रखी थी और वह मोदी थे जिन्होंने उसकी गति को मजबूती दी और 2014 में पूर्ण बहुमत दिलाया।

 

सिंह ने प्रधानमंत्री के नेतृत्व की प्रशंसा करते हुए कहा कि मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद देश ने तेजी से प्रगति की है और देश 2030 तक विश्व के तीन शीर्ष देशों में शामिल होने की ओर अग्रसर है। उन्होंने पाकिस्तान को आड़े हाथ लेते हुए जम्मू कश्मीर के पुलवामा हमले के पीछे उसका हाथ होने का आरोप लगाया जिसमें केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 40 जवान शहीद हो गए। सिंह ने दावा किया कि पड़ोसी देश ने यह जानने के बाद हमले में सहयोग दिया कि पिछले पांच वर्षों में भारतीय बलों के सफल अभियानों से आतंकवादी हताश हो गए हैं।

 

सिंह ने कहा, ‘‘आतंकवाद को संरक्षण देने वाले पाकिस्तान को यह अहसास हो गया कि पांच वर्षों में आतंकवादियों के खिलाफ हमारे सुरक्षा बलों के सफल अभियानों के चलते आतंकवादियों में हताशा और निराशा बढ़ गई है। इस सभा में मौजूद लोगों ने पुलवामा आतंकवादी हमले में शहीद होने वाले सीआरपीएफ के 40 जवानों की याद में दो मिनट का मौन रखा।  उन्होंने कहा कि हमले का ‘‘करारा जवाब’’ देने के लिए सुरक्षा बलों को खुली छूट दे दी गई है। सीआरपीएफ का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।

 

उन्होंने राज्य की बीजद सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि राज्य में पिछले 19 वर्षों से एक स्थिर सरकार होने के बावजूद कोई विकास नहीं हुआ है। उन्होंने केंद्र की आयुष्मान भारत योजना को खारिज करने के लिए ओडि़शा सरकार को आड़े हाथ लिया और कहा कि भाजपा के सत्ता में आने पर ही राज्य का विकास संभव होगा।

कोई भी मोदी की ईमानदारी पर सवाल नहीं खड़ा कर सकता : राजनाथ

NEW DELHI: राफेल विमान सौदे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाने पर विपक्ष पर पलटवार करते हुए केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को कहा कि कोई भी मोदी की ईमानदारी पर सवाल खड़ा नहीं कर सकता और प्रतिद्वंद्वी दलों को लोगों की आंखों में धूल झोंकने एवं उन्हें गुमराह करने से बाज आना चाहिए। सिंह ने कहा कि जो लोग बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं, उन्हें जवाब देना चाहिए कि मोदी किसके लिए, अपनी पत्नी के लिए, बच्चे के लिए’ संपत्ति बनायेंगे? कौन है उनका? वह इसे किसे देंगे।

 

उन्होंने आगामी लोकसभा चुनाव हेतु भाजपा के संकल्प पत्र के लिए सुझाव जुटाने के लिए बुद्धिजीवियों के साथ बाचतीत के दौरान कहा, मैं आहत महसूस करता हूं। मैं लंबे समय से मोदी को जानता हूं…यदि आप चाहते हैं तो आप दूसरे आरोप लगा सकते हैं कि मोदी ने कम काम किया या फिर मोदी और काम कर सकते थे- लेकिन कोई भी प्रधानमंत्री की ईमानदारी और मंशा पर सवाल खड़ा नहीं कर सकता। आपको लोगों को गुमराह कर राजनीति नहीं करनी चाहिए।

 

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रियों समेत भाजपा के किसी भी नेता पर भ्रष्टाचार का दाग नहीं है। पार्टी के शीर्षस्थ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने अपने विरुद्ध आरोप लगने पर इस्तीफा देकर एक उदाहरण स्थापित किया था। सिंह ने कहा,‘‘किसी ने कहा कि प्रथम ²ष्टया मामला बनता है, इसलिए आडवाणीजी ने इस्तीफा देकर उदाहरण प्रस्तुत किया। उन्होंने कहा कि वह तबतक संसद में कदम नहीं रखेंगे जबतक उनका नाम पाक-साफ नहीं हो जाता। वह हवाला घोटाला में नाम आने के बाद 1996 में आडवाणी द्वारा सांसद के तौर पर इस्तीफे का जिक्र कर रहे थे।

 

पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने देशभर से 10 करोड़ लोगों से सुझाव जुटाने के लिए तीन फरवरी को एक महीने का ‘भारत के मन की बात, मोदी के साथ’ अभियान शुरू किया था। पार्टी के बिहार मामलों के प्रभारी भाजपा महासचिव भूपेंद्र यादव, राज्य के मंत्री नंद किशोर यादव और प्रेम कुमार भी इस कार्यक्रम में उपस्थित थे। इस कार्यक्रम का संचालन पूर्व मंत्री नीतीश मिश्रा ने किया। सिंह ने कहा कि राजनीति लोगों के बीच झूठ फैलाने और उनकी आंखों में धूल झोंकने के आधार पर नहीं होनी चाहिए बल्कि यह सच और केवल सच से निॢदष्ट होनी चाहिए।