अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले में हुनर हाट का जलवा

NEW DELHI.  देश भर के दस्तकारों शिल्पकारों के सशक्तिकरण का “विश्वसनीय ब्रांड” बन चुके “हुनर हाट” का उद्घाटन आज केंद्रीयअल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने नई दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित किये जा रहे अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला में किया।

अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा दस्तकारों, शिल्पकारों को मौका-मार्किट मुहैया कराने के मिशन के तहत देश के विभिन्न भागों में आयोजित “हुनरहाट” की श्रृंखला में यह “हुनर हाट” अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला, प्रगति मैदान में 14 नवम्बर से 27 नवंबर, 2018 तक आयोजित किया जा रहा है।

“हुनर हाट” के उद्घाटन के दौरान श्री नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यक मंत्रालय द्वारा देश भर में आयोजित किया जा रहा “हुनर हाट”, दस्तकारों/शिल्पकारों का “एम्पावरमेंट-एम्प्लॉयमेंट एक्सचेंज” साबित हो रहा है।

श्री नकवी ने कहा कि आर्इआर्इटीएफ में आयोजित इस “हुनर हाट” में बड़ी संख्या में महिला दस्तकारों सहित देश भर के दस्तकार, शिल्पकार, कारीगरभाग ले रहे हैं। देश के कोने-कोने से हस्तशिल्प और हैंडलूम उत्पाद इस “हुनर हाटमें प्रदर्शनी एवं बिक्री के लिए उपलब्ध हैं। अज़रख, बाग प्रिंट, बंधेज, बाड़मेरअज़रख और एप्लिक, बिड्रिवेयर, केन और बांस, कालीन, चंदेरी, चनिया चोली, चिकनकारी, कॉपर बेल उत्पाद, ताँबे के बर्तन, चीनी मिट्टी के बर्तन, ड्राई फ्लॉवर,गोटापत्ती, हैंडलूम और होम फर्निशिंग इत्यादि यहाँ उपलब्ध हैं।

इसके अलावा जूट क्राफ्ट, लाख पत्थर से बनी चुड़ियाँ, लैक्रवेयर, लिनन उत्पाद, मेटलवेयर, मडवर्क, मल्बेरी सिल्क, पैठनी सिल्क, फूलकरी, पंजाबीजुत्ती, ज़री बैग आदि उपलब्ध हैं। पहली बार छत्तीसगढ़ के उत्पाद, जम्मू-कश्मीर के नामदा और चिन्नॉन सिल्क भी उपलब्ध हैं।

श्री नकवी ने कहा कि हाशिये पर पड़ी हुनर की विरासत को मोदी सरकार के “हुनर हाट” जैसे रोजगारपरक कार्यक्रम से जबरदस्त हौसला मिला है। देशभर के प्रमुख स्थलों पर आयोजित किये जा रहे “हुनर हाट” से जहाँ एक तरफ हुनरमंद शिल्पकारों, दस्तकारों को राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय मौका-मार्किट मुहैया हुए हैं,वहीँ बड़ी संख्या में उन्हें रोजगार-रोजगार के अवसर भी उपलब्ध हुए हैं।

 नकवी ने कहा कि प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी के “मेक इन इंडिया””, “स्टैंड अप इंडिया”, “स्टार्ट अप इंडिया” के संकल्प को साकार करने का”प्रामाणिक एवं विश्वसनीय ब्रांड” बन गया है “हुनर हाट”। पिछले 1 साल में “हुनर हाट” 1 लाख 50 हजार से ज्यादा कारीगरों, दस्तकारों, शिल्पकारों एवं उनसेजुड़े लोगों को रोजगार और रोजगार के अवसर मुहैया कराने में सफल रहे हैं। हमारा लक्ष्य “हुनर हाट” के माध्यम से 2019 तक लगभग 5 लाख लोगों कोरोजगार-रोजगार के मौके उपलब्ध कराना है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *