BJP की मजबूती के लिए मैराथन में दौड़ी महिलाएं

NEW DELHI. भाजपा महिला मोर्चा की नींव रखने वाली राजमाता विजयाराजे सिंधिया की जन्मशती पर ग्वालियर से दिल्ली तक आयोजित 375 किमी लंबी रिले—मैराथन का दिल्ली में मंगलवार को विधिवत तरीके से समापन हो गया। दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में भाजपा के केंद्रीय मंत्रियों और वरिष्ठ नेताओं ने इसका स्वागत किया।
भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष विजया राहटकर के नेतृत्व में ग्वालियर से यात्रा 12 अक्टूबर को शुरू हुई थी। यहां पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हरी झंडी दिखाकर यात्रा को रवाना किया। इसके उपरांत यात्रा राजस्थान पहुंची। यहां पर राज्य की मुख्यमंत्री श्रीमती विजयाराजे सिंधिया ने यात्रा का स्वागत किया और राज्य में इसके 35 किमी के सफर में लगातार इसके साथ रहीं। इसके बाद यात्रा उप्र पहुंची। यहां पर राज्य के उपमुख्यमंत्री दिनेशचंद्र शर्मा और उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने यात्रा का स्वागत किया। यात्रा का अगला पड़ाव हरियाणा था। यहां पर होडल में राज्य के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खटटर ने यात्रा का स्वागत किया। वहां से यात्रा बदरपुर बॉर्डर होते हुए तालकटोरा स्टेडियम पहुंची। यहां पर भाजपा के महासचिव रामलाल और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने यात्रा का स्वागत किया।

 

इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि इस पांच दिवसीय 375 किमी की यात्रा ने सफलतापूर्वक मोदी सरकार की महिला सशक्तिकरण की योजनाओंं को पांच राज्यों के घर—घर तक पहुंचाया है। स्मृति ईरानी ने कहा कि यहां पर आईं महिलाओं से वह वादा लेना चाहती हैं कि वह अपने इलाके में घर—घर जाएंगी और जो कार्य बहन विजया राहटकर ने यात्रा के माध्यम से किया है, यहां उपस्थित सभी बहनें अपने इलाके में इस कार्य को आगे बढ़ाएंगी और मोदी सरकार की महिला सशक्तिरण योजनाओं का प्रचार—प्रसार करेंगी।

 

सिंधिया  सच्चे अर्थो में लोकमाता थीं

राजमाता विजयाराजे सिंधिया को याद करते हुए श्रीमती स्मृति ईरानी ने कहा कि वह सच्चे अर्थो में लोकमाता थीं। उनकी छवि राजनीतिक छवि से भी कई आगे और उपर है। इसकी वजह यह रही कि उन्होंने अपने वैभव को त्यागकर गरीब, दीन—हीन के लिए कार्य किया। श्रीमती स्मृति ईरानी ने कहा कि वह लौह—महिला थीं। आपातकाल के दौरान उन्होंने कांग्रेस की ओर से उन्हें दी गई पीड़ा और दु:ख के आगे झुकने से मना कर दिया। उन्होंने राजपरिवार से होने के बाद भी कांग्रेस के आगे झुकने की जगह लोकतंत्र को जीवंत बनाए रखने के लिए अपना विरोध जारी रखा और जेल गईं। कार्यक्रम में सबसे उम्रदराज महिला धावक बीबी मान कौर और दिव्यांग जयश्री शिंदे भी शामिल थीं। बीबी मान कौर 102 वर्ष की हैं और इन्होंने बदरपुर बॉर्डर से तालकटोरा स्टेडियम तक मैराथन में हिस्सा लिया। वहीं जयश्री शिंदे लगातार 375 किमी तक मैराथन में शामिल रहीं।

 

महिलाओं का असली सशक्तिकरण मोदी सरकार ने किया

भाजपा के संगठन मंत्री रामलाल ने कहा कि यह मैराथन दौड़ मोदी सरकार की महिला सशक्तिरण योजनाओं को सफलतापूर्वक लोगों तक पहुंचाने का कार्य किया है। महिलाओं के असली सशक्तिकरण के लिए मोदी सरकार ने उन्हें केंद्र में रखकर कई योजनाएं बनाईं। इसमें उज्जवला, उजाला और पीएम आवास योजना कुछ नाम हैं। यह राजमाता विजयाराजे सिंधिया को भी हमारी सच्ची श्रद्धाजली है। मोदी सरकार के सभी कार्य गरीबों, दीन—हीन को बेहतर जीवन देने के लिए संकल्प की तरह हैं। यह मोदी सरकार ही है जिसने बच्चियों, महिलाओं के साथ होने वाले अपराध पर कड़े कानून बनाएं। बेटियों को बचाने के लिए बेटी बचाओ—बेटी पढ़ाओं जैसी योजना शुरू की और उसका आज सकारात्मक नतीजा भी सामने आ रहा है। रामलाल ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि मोदी सरकार के इन कार्यो को देखते हुए देश की जनता एक बार फिर से उन्हें मौका देगी और आने वाले समय में और अच्छे कार्य और अच्छी नीतियों से मोदी सरकार लोगों के सशक्तिकरण का कार्य जारी रखेगी।

100 महिलाओं ने मैराथन को सशक्त किया
भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष विजया राहटकर ने मैराथन में लगातार दौड़ने वाली 100 महिला—पुरूष धावकों और अन्य लोगों को दौड़ को सफल बनाने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि जिस तरह से दौड़ को मप्र, राजस्थान, उप्र, हरियाणा और दिल्ली में स्वागत मिला है और लोग स्वेच्छा से हर जगह इसमें बड़ी संख्या में शामिल हुए हैं, उससे उन्हें विश्वास है कि अगले चुनाव में एक बार फिर से नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र में सरकार बनेगी। इस बार हम पहले से अधिक सीटों पर विजयी हासिल करेंगे। विजया राहटकर ने कहा कि सभी धावक और अन्य लोग जो दौड़ में शामिल रहे हैं वे सभी मोदी सरकार की महिला सशक्तिकरण वाली योजनाओं को जनता तक पहुंचाने में सफल रहे हैं। जनता को वह यह बताने में सफल रहे हैं कि इन योजनाओं ने महिलाओं को पहले से अधिक सशक्त किया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *