काबुल में आतंकी हमला: 95 लोगों की मौत, 151 घायल

KABUL/NEW DELHI. अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में शनिवार को भीड़भाड़ वाले इलाके में एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटकों से भरी एक ऐम्बुलेंस के साथ खुद को उड़ा दिया। इस हमले में कम से कम 95 लोगों की मौत हो गई, जबकि 160 से ज्यादा घायल हुए हैं। अधिकारियों ने बताया कि तालिबान ने हमले की जिम्मेदारी ली है।

टोलो न्यूज ने स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता के हवाले से बताया है कि मरने वालों की संख्या बढ़कर 95 हो गई है और 163 लोग जख्मी हुए हैं। पिछले एक हफ्ते के भीतर काबुल में तालिबान का यह दूसरा बड़ा आतंकी हमला है। हमले के बाद अफरातफरी मच गई और दहशतजदा लोग इधर-उधर भागने लगे। जिस जगह पर हमला हुआ उसके आस-पास यूरोपियन यूनियन समेत कई हाई-प्रोफाइल संगठनों के दफ्तर हैं। एक अधिकारी ने बताया कि यूरोपियन यूनियन के प्रतिनिधिमंडल को ‘सुरक्षित जगह’ पहुंचा दिया गया। पिछले साल 31 मई को काबुल के राजनयिक इलाके में ट्रक बम हमले के बाद का यह सबसे बड़ा आतंकी हमला है।

 

न्यूज एजेंसी एएफपी के एक रिपोर्टर ने जमूरियत हॉस्पिटल के आस-पास कई शवों और घायलों को देखा, जहां मेडिकल स्टाफ गलियारे में लेटे खून से लथपथ लोगों और बच्चों का इलाज कर रहे हैं। धमाका इतना ताकतवर था कि 2 किलोमीटर दूर की इमारतों के भी कांच चटक गए और नजदीकी इमारतों के कांच सैकड़ों मीटर में बिखर गए। धमाके की जगह के नजदीक की कुछ कम ऊंची इमारतें भी जमींदोज हो गईं।

आंतरिक मामलों के मंत्रालय के डेप्युटी स्पोक्समैन नसरत रहीमी ने एएफपी को बताया, ‘आत्मघाती हमलावर ने चेकपॉइंट्स को पार करने के लिए एक ऐम्बुलेंस का इस्तेमाल किया। पहले चेकपोस्ट को उसने यह कहकर पार किया कि वह मरीज को लेकर जमूरियत हॉस्पिटल ले जा रहा है। दूसरे चेकपोस्ट पर वह पहचान लिया गया जिसके बाद उसने विस्फोटकों से भरी ऐम्बुलेंस को उड़ा दिया।’

 

सोशल मीडिया पर तालिबान ने हमले की जिम्मेदारी ली है। काबुल में एक हफ्ते के भीतर तालिबान का यह दूसरा बड़ा हमला है। धमाके की जगह से महज कुछ ही मीटर की दूरी पर स्टेशनरी की दुकान चलानेवाले अमीनुल्लाह ने बताया कि धमाका इतना तेज था कि इमारतों की बुनियादें हिल गईं। उन्होंने कहा, ‘इमारतें हिल गईं। हमारी सभी खिड़कियां टूट गईं। हमारे बाजार में लोग दहशत में हैं।’ सोशल मीडिया पर शेयर की गई हमले की कथित तस्वीरों में शहर के ऊपर आसमान में काफी ऊंचाई तक धुआं दिखाई दे रहा है।

ठीक एक हफ्ते पहले तालिबान आतंकियों ने काबुल में एक लग्जरी होटल पर हमला किया था जिसमें कम से कम 22 लोगों की मौत हुई थी। होटल हमले में मरने वालों में ज्यादातर विदेशी थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *